English Version  
   
   Visitor Counter
CGMFPFED.ORG

विनिर्दिष्ट लघु वनोपज का व्यापार


 

लघु वनोपज को मुख्यतः विनिर्दिष्ट एवं गैर विनिर्दिष्ट वनोपज मे वर्गीकृत किया गया है :

.: विनिर्दिष्ट लघु वनोपज

विनिर्दिष्ट लघु वनोपज वह है जिसके व्यापार का एकाधिकार राज्य सरकार के पास है। विनिर्दिष्ट लघु वनोपज का संग्रहण और विक्रय छत्तीसगढ़ राज्य लघुवनोपज संघ मर्यादित द्वारा किया जाता है जो कि राज्य शासन का एकमात्र एजेंट है| लघु बनोपज संघ राष्ट्रीय स्तर के ई-निविदाओं को आमंत्रित करके और ई-नीलामी आयोजित करके संग्रहित किए गए उत्पादों को विक्रय करता है। ग्रामीण संग्रहणकर्ताओं को वनोपज का उचित मूल्य से भुगतान सुनिश्चित करने के लिए राज्य को एकाधिकार सशक्त बनाया गया है। तेन्दू पत्ता (Diospyros melanoxylon roxp) और गोंद [श्रेणी I - कुल्लू (Sterculia urens) गोंद और श्रेणी II - धावड़ा (Anogeisus latifolia), बबूल (Acacia indica) और खैर गोंद (Acacia catechu) ] राज्य में विनिर्दिष्ट लघु वनोपज (एमएफपी) हैं। छत्तीसगढ़ तेन्दू पत्ता (व्यापार विनियमन) अधिनियम, 1964 और नियमों में तेन्दू पत्ता और छत्तीसगढ़ वनोपज (व्यापार विनियमन) अधिनियम, 1969 के नियमों को विनियमित किया गया और नियमों के तहत गोंद (श्रेणी I और II) के नियमों को नियंत्रित किया गया।