English Version  
   
   Visitor Counter
CGMFPFED.ORG

गैर-विनिर्दिष्ट लघु वनोपज का व्यापार


.: गैर-विनिर्दिष्ट लघु वनोपज का व्यापार


गैर-विनिर्दिष्ट लघु वनोपज वे लघु वनोपज हैं जिन पर राज्य में कोई एकाधिकार नियंत्रण नहीं है, फिर भी राज्य नीति को सक्षम करने के माध्यम से इन संसाधनों को विकसित किया जाता है। स्थानीय समुदायों और लघु वनोपज संग्रहणकर्ताओं को अधिकतम लाभ प्रदान करने के लिए लघु वनोपज संघ अंतःस्थलीय संरक्षण, मूल्य संवर्धन, प्रसंस्करण और लघु वनोपज के विपणन को बढ़ावा देता है।


राज्य ने तेजी से बढ़ने वाले औषधीय पौधों के क्षेत्र और भारतीय चिकित्सा पद्धति की वैश्विक प्राथमिकता को महसूस किया है। राज्य में औषधीय पौधों और अन्य लघु वनोपज की गैर-विनिर्दिष्ट क्षमता और आर्थिक उपयोगिता की क्षमता को महसूस करते हुये संघ स्थायी आधार पर लघु वनोपज के संरक्षण और विनाश विहीन विदोहन के लिये प्रचार कर रहा है।


छत्तीसगढ़ लघु वनोपज संघ समय-समय पर प्रभावी रूप से विभिन्न परियोजनाओं के क्रियान्वयन के माध्यम से गैर-विनिर्दिष्ट लघु वनोपज के औषधीय, सुगंधित और डाई पौधों के समय पर प्रभावी प्रबंधन के लिये जिम्मेदार हैं। क्षेत्रीय स्तर पर जिला संघ के प्रबंध संचालक ने विभिन्न परियोजनाओं को अंजाम दिया है।