English Version  
   
   Visitor Counter
CGMFPFED.ORG

प्रशिक्षण


.: प्रशिक्षण

वर्ष 2017 में रोजगारोन्मुखी परियोजनांतर्गत वृत्त स्तरीय स्व-सहायता समूह / वन प्रबंधन समिति / समिति प्रबंधकों का प्रशिक्षण का कार्य संपादित किया गया, जिसमें लगभग 2000 हितग्राहियों ने भाग लिया।


संघ मुख्यालय, जिला यूनियन तथा प्राथमिक लघु वनोपज समिति के निर्वाचित सदस्यों, समिति प्रबंधकों के लिये देश के विभिन्न राज्यों में जहाँ अकाष्ठीय वनोपज संबंधी गतिविधियां संचालित हैं में FRLHT बैंगलोर के सहयोग से अध्ययन प्रवास भी कराया जा रहा है।


स्व-सहायता समूहों, संयुक्त वन प्रबंधन समिति सदस्यों, प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति सदस्यों, जिला यूनियन के अधिकारी / कर्मचारी के लिये एक प्रशिक्षण मार्गदर्शिका ‘जीविकोपार्जन कार्यों के बढ़ावा हेतु हितग्राहियों का कौशल उन्नयन प्रशिक्षण’ "SKILL DEVELOPMENT OF BENEFICIARIES FOR THE PROMOTION OF LIVELIHOOD ACTIVITIES" तैयार कर दिनांक 13.08.2017 को संयुक्त वन प्रबंधन एवं प्राथमिक वनोपज समितियों का महा सम्मेलन ‘वन मड़ई 2017’ के अवसर पर माननीय मुख्य मंत्री जी के कर कमलों से विमोचन किया गया। माननीय मुख्य मंत्री डाॅ रमन सिंह जी के 5000 दिवस के कार्यकाल के पूर्ण होने के अवसर पर "जनाधार वन - धन आजीविकाओं का विस्तार" विषय पर एक स्मारिका भी जारी की गयी, जिसमें छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ के द्वारा किये जा रहे विभिन्न कार्योें का सचित्र उल्लेख है।


सम्पूर्ण वर्ष में किये जाने वाले प्रशिक्षण के लिये एक ट्रेनिंग कलैण्डर तैयार किया गया है, जिसके तहत् वर्तमान में शहद संग्राहकों का भी प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। विनाश विहिन विदोहन पद्ति से लघु वनोपज संग्रहण हेतु संग्राहकों / समितियों केे लिए FRLHT बैंगलोर के सहयोग से प्रशिक्षण का भी आयोजन वर्तमान वर्ष में प्रस्तावित है।


पूर्व में विभिन्न परियोजनाओं के अन्तर्गत 23466 हितग्राही एवं 28469 स्टाॅफ को प्रशिक्षित किया गया है।



  • प्रशिक्षण की सूची


  •